उन्होंने पत्रकारों से कहा, संसद का सत्र चल रहा है और सरकार को यह जानने के लिए मतदान कराना चाहिए कि संविधान के अनुच्छेद 370 और अनुच्छेद 35ए को कौन-कौन रद्द कराना चाहते हैं. इससे राष्ट्र को राष्ट्रवादियों और गद्दारों के बारे में जानकारी मिलेगी.

पंजाब में खालिस्तान के नाम पर आतंकवाद को फिर से भड़काने के सवाल पर बिट्टा ने कहा कि मुट्ठी भर लोग विदेश में बैठकर साजिश रच रहे हैं लेकिन पंजाब के लोग उन्हें कभी भी सफल नहीं होने देंगे. उन्होंने कहा, ‘‘हम इस बाबत पाकिस्तान और आईएसआई की किसी भी कोशिश को नाकाम करने के लिए दृढ़संकल्प हैं.’’