भोपाल। नगर निगम अधिकारी की बल्ले से सरेआम पिटाई कर पूरे देश में सुर्खियां बटोर चुके भाजपा विधायक आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ प्रदेश भाजपा संगठन बुधवार को कोई कार्रवाई नहीं कर पाया। देर रात उच्च पदस्थ सूत्रों ने बताया कि आकाश पर एक-दो दिन में कार्रवाई की जा सकती है। अभी हाईकमान इस बारे में विचार-विमर्श कर रहा है। गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा संसदीय दल की मंगलवार को हुई बैठक में घटना की निंदा करने और ऐसे लोगों का समर्थन करने वालों को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखाने की बात कही थी।

पार्टी सूत्रों ने बताया कि विधायक आकाश विजयवर्गीय और उनका समर्थन करने वाले नेता व कार्यकर्ताओं के खिलाफ एक साथ कार्रवाई की जा सकती है। पार्टी हाईकमान ने आकाश का समर्थन करने वाले नेताओं की सूची इंदौर संगठन से मांगी है। खबर है कि इंदौर से केंद्रीय संगठन को सूची भेज दी गई है।

भाजपा में हड़कंप, नेताओं ने मुंह बंद किए

भाजपा में मोदी के सख्त रवैए के बाद से हड़कंप मचा हुआ है। पार्टी का कोई भी नेता इस मामले में बात करने से बच रहा है। वहीं, पार्टी का एक धड़ा दिल्ली में पार्टी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पक्ष में लॉबिंग कर रहा है। विजयवर्गीय को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह का करीबी कहा जाता है। वे पश्चिम बंगाल के प्रभारी भी हैं।

वहीं, भाजपा से छह साल के लिए निलंबित किए गए नेता अनिल सौमित्र ने आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ अब तक कार्रवाई न किए जाने को लेकर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा कि मेरे साथ तो ऐसी नाइंसाफी की गई कि बिना कारण बताए मुझे निलंबित कर दिया गया।

हाईकमान के निर्देश का इंतजार

सूत्र बताते हैं कि भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय के पुत्र से मामला जुड़ा होने के कारण कार्रवाई के लिए राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह या कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा के इशारे का इंतजार है। मोदी के सख्त संदेश के कारण ये तो तय माना जा रहा है कि पार्टी आकाश विजयवर्गीय के खिलाफ कार्रवाई अवश्य करेगी। पार्टी सूत्रों का कहना है कि भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष राकेश सिंह हाईकमान का संदेश लेकर भोपाल पहुंच रहे हैं। इस हिसाब से गुरुवार को शोकाज नोटिस जारी किया जा सकता है। बताया जा रहा है कि आकाश को फिलहाल पार्टी से निलंबित किया जा सकता है।

मायावती ने सााधा निशाना

बसपा सुप्रीमो मायावती ने निशाना साधते हुए कहा, देशभर में हर स्तर पर सत्ताधारी पार्टी के लोगों द्वारा जिस प्रकार से कानून को खुलेआम हाथ में लेकर हर प्रकार की अराजकता फैलाई जा रही है, वह लगातार गंभीर चिंता का विषय बना हुआ है लेकिन भाजपा नेतृत्व की यदाकदा फटकार से स्थिति में कोई सुधार नहीं आया है और न आगे कोई गारंटी है

कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अमित शाह पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया कि 'अगर ऐसा होता है तो मोदी जी आपको बधाई। यदि नहीं होता है तो यही कहेंगे आपकी कथनी और करनी में बहुत अंतर है और आपकी नीयत साफ नहीं है। मुझे नहीं लगता अमित शाह जी अपने प्रिय मित्र कैलाश विजयवर्गीय के बेटे का कोई नुकसान होने देंगे। देखते हैं"।

इस्तीफे का सवाल ही नहीं

सोशल मीडिया पर पद से इस्तीफे को लेकर चल रही सूचना केवल अफवाह है। मेरे इस्तीफे का सवाल ही नहीं उठता।

-कैलाश विजयवर्गीय, महासचिव, भाजपा